Holi Kab Hai 2022 (होली कब है 2022), 18 मार्च 2022, होलिका दहन का मुहूर्त

Holi Kab Hai 2022 (होली कब है 2022), 18 मार्च 2022, होलिका दहन का मुहूर्त

By Ruby ZhaoUpdated Dec. 27, 2021

होली को ‘ रंगों का त्योहार’ या ‘प्यार का त्यौहार’ भी कहा जाता है। यह आनंदित कर देने वाला हिंदुओं का धार्मिक त्योहार है जो अच्छाई की (भगवान विष्णु ) बुराई (दानवी होलिका) पर जीत के रूप में पूरे भारत में मनाया जाती है।

2022 में होली मार्च में 18 (पूर्णिमा) को पड़ेगी और जश्न 17 (चतुर्दशी ) से शुरू होंगे ।

17 मार्च को पूर्ण रूप से चांदनी रात है जब लगभग सभी धार्मिक रस्मों रिवाज होंगे। जैसे होलिका दहन - आग लगाने की रस्म|

18 मार्च का दिन रंगों के खेल का दिन होगा जिसे मनाने के लिए पूरा देश सड़कों पर उतर आएगा।

  • पूर्णिमा तिथि (पूरी चांदनी रात का समय): 17 मार्च को 13:25 से 18 मार्च 12:45 तक
  •  होलिका दहन का मुहूर्त 17 मार्च को 21:06 से 22:16 तक 

ज्यादातर भारतीय लोग राष्ट्रीय सार्वजनिक अवकाश का आनंद 18 मार्च को उठायेंगे जो कि होली का मुख्य दिन है ।

होली कब तक रहती है

Holi Kab Hai 2022

लगभग सारे भारत में होली 2 दिन तक मनाई जाती है। पहले दिन को छोटी होली कहा जाता है या होलिका दहन( होलिका की मृत्यु) । ये तब होती है जब होलिका दहन की धार्मिक रस्म पूरी की जाती है ।

दूसरे दिन को दुलेंडी, रंगों का त्योहार कहा जाता है और रंग वाली होली कहा जाता है जब रंगों का खेल शुरू होता है।

भारत के कुछ भागों में इस त्यौहार को 2 दिनों से ज्यादा समय तक मनाया जाता है।

मथुरा, भगवान कृष्ण की जन्मभूमि के नाम पर प्रसिद्ध है। (भगवान विष्णु का अवतार ) जोकि होली में सम्मानित सर्व प्रथम के भगवान हैं। मथुरा और उसके निकट वृंदावन में 1 सप्ताह से ज्यादा समय तक यह त्यौहार मनाया जाता है। जिसमें विभिन्न रंगों से खेलना और धार्मिक रस्में शामिल होती हैं

17 मार्च 2022 - चतुर्दशी छोटी / होलिका दहन

होली कब है 2022

होली से एक दिन पूर्व, शाम को बड़ी-बड़ी लकड़ियों में आग लगाई जाती है और दानवी होलिका का पुतला उस आग में जला दिया जाता है जो अच्छाई की बुराई पर विजय को दर्शाता है।

होलिका दहन की रस्में शाम को चांद के पूर्ण रूप से देखने के बाद ही शुरू होती हैं। यह शुभ मुहूर्त एक घंटा 10 मिनट का 21:03 से 22:13 तक 17 मार्च को है ।

किसी अन्य समय पर होलिका का पुतला दहन करना खराब किस्मत लाना माना जाता है

होलिका की चिता बनाने का काम जिसमें होलिका का दहन किया जाता है हफ्तों पहले से शुरू हो जाता है।

18 मार्च 2022 पूर्णिमा – रंगो वाली होली / रंगो से खेलना

Holi Kab Hai 2022

18 मार्च को रंगों की लड़ाई का दिन है जब पूरा देश इसे मनाने के लिए सड़कों पर उतर आता है। यह होली का मुख्य दिन है इस दिन बैंक, स्कूल और सरकारी दफ्तर सब बंद रहते हैं।

सुबह के समय होलिका दहन की राख को इकट्ठा किया जाता है क्योंकि इसे शुभ समझा जाता है।

रंगों का खेल पूरे दिन भर जारी रहता है । रंगों और पानी को फेंकना प्यार की निशानी माना जाता है, भगवान, परिवार और मित्रों के लिए।

लोग मंदिरों की ओर जाते हैं और सड़कें रंगों के पाउडर, पानी के गुब्बारे और पिचकारियों से भरी होती हैं।

आपसी रंगों के खेल के लिए इस दिन पूरा देश रंगों के हर्षोल्लास में डूबा हुआ होगा।

होली की तिथि हिंदू कैलेंडर के अनुसार तय की जाती है ।

होली की तिथि भारतीय चंद्र कैलेंडर के अनुसार तय की जाती है । पुर्णीमा की तिथि हर साल बदलती रहती है। यह आमतौर पर मार्च में ही आती है कभी-कभी फरवरी में भी आ जाती है।

धार्मिक उत्सव के महत्व के अलावा होली बसंत के आने की खुशी को भी दर्शाती है। यह फागुन के अंतिम पूर्ण चांद के दिन आती है। हिंदू नागरिक कैलेंडर के अंतिम महीने में यह सर्दी के जाने को भी दर्शाती है।

क्या होली का त्यौहार सार्वजनिक त्योहार है?

भारत में होली एक महत्वपूर्ण त्यौहार है और ज्यादातर राज्य अपने राज्य वासियों को सार्वजनिक अवकाश रंग फेंकने वाले दिन मार्च 18 2022 को देंगे।

केवल 6 राज्यों में इस दिन सार्वजनिक अवकाश नहीं होता है। कर्नाटक, केरल, लक्षद्वीप, मणिपुर , पुडुचेरी और तमिलनाडु। इन राज्यों में होली के लिए सार्वजनिक अवकाश नहीं होता है, क्योंकि त्यौहार या तो अलग से मनाया जाता है या इन जगहों पर बिल्कुल भी नहीं मनाया जाता है।

भारत के विभिन्न भागों में होली मनाने की तिथियां

भारत में हर राज्य अपने पड़ोसी राज्य से भिन्न हो सकता है और जिसकी अपनी ही अनोखी संस्कृति और भाषा होती है । जबकि ज्यादातर भारत में होली 2022 में 17 और 18 मार्च को मनाई जाएगी, यहां कुछ राज्य ऐसे भी हैं जो इसको किसी और दिन मनाएंगे।

यहां लिस्ट दी गई है जहां त्यौहार को किसी अन्य दिन मनाया जाता है, उनके स्थान और संक्षिप्त विवरण के साथ

त्योहार स्थान 2022 तारीख
लठमार होली बरसाना गांव, उत्तर प्रदेश 12 मार्च से 13 मार्च
फूलों वाली होली वृंदावन, उत्तर प्रदेश होली से 4 दिन पहले शुरु ( अनुमानित 14 से 17 मार्च तक )
बसंत उत्सव शांतिनिकेतन, बंगाल 16 से 18 मार्च
होला मोहल्ला आनंदपुर साहिब, पंजाब 18 से 20 मार्च

2022 से 2030 तक होली की तिथियां

2022 से 2030 तक तालिका में दी गई तारीख केवल होली की वे तारीख है जिस दिन रंगों का खेल होता है। होलिका दहन इन तारीखों से एक दिन पहले होगा ।

त्योहार होली तारीख दिन
होली 2022 18 मार्च शुक्रवार
होली 2023 7 मार्च बुधवार
होली 2024 25 मार्च मंगलवार
होली 2025 14 मार्च शनिवार
होली 2026 4 मार्च बुधवार
होली 2027 23 मार्च मंगलवार
होली 2028 12 मार्च रविवार
होली 2029 1 मार् गुरुवार
होली 2030 20 मार्च बुधवार

Why Travel with Asia Highlights

  • Tailor-made experience: All of your ideas/needs will be carefully considered to create your ideal trip.
  • Worry-free planning: Every step of your trip, you will be looked after by your 1:1 travel consultant based in Asia.
  • No-risk booking: We refund as much as we can and adapt flexibly to unexpected changes.

More Travel Ideas and Inspiration

Get Inspired with Our Sample Itineraries

At Asia Highlights, we create your kind of journey — your dates, your destinations, at your pace. You can have any trip tailor made for your travel.

We are here to help you...
Start planning your tailor-made Asia tour with 1-1 help from our travel advisors. Create My Trip
About Us
At Asia Highlights, we create your kind of journey — your dates, your destinations, at your pace. Not just any journey, but the unique trip with the exceptional experiences you're looking for — whether it's a family vacation, a honeymoon, or your annual break. more ...
Rated 4.8 out of 5 | Excellent
Featured on
Medias